UPTET 2020-2021: NIOS से DElEd करने वालों को PNP से झटका, यूपीटीईटी में नहीं मिलेगा मौका, जानें सरकार से क्या कहा

UPTET 2020-2021: पीएनपी {परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय} प्रयागराज, ने आगामी मार्च 2021 में होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2020, में राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी संस्थान (एनआईओएस) से डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों को शामिल करने से इंकार कर दिया है.

दरअसल मामला यह है कि पीएनपी ने जो प्रस्ताव शासन के पास भेजा है उस प्रस्ताव में एनआईओएस से डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों को उसने  शामिल नहीं किया है. इसके पीछे पीएनपी का यह तर्क है कि चूंकि यूपीटीईटी की परीक्षा में शामिल होने के लिए न्यूनतम दो वर्ष का शिक्षक प्रशिक्षण कोर्स करना अनिवार्य है. जबकि एनआईओएस से डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों ने केवल 18 महीने का पत्राचार कोर्स किया हुआ है. वहीँ राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) ने एनआईओएस से डीएलएड करने वालों को शिक्षक भर्ती के लिए पात्र माना है.

Loading...

अभ्यर्थियों का यह है तर्क: यूपीटीईटी 2020 में शामिल न करने के मामले में एनआईओएस से डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों का कहना है कि हम लोग पहले से ही स्कूलों में शिक्षण कार्य कर रहे हैं. दो वर्ष के शिक्षक प्रशिक्षण कोर्स के मामले में अभ्यर्थियों का कहना है कि इस कोर्स में 6 महीने प्रशिक्षार्थियों को स्कूल पर जाकर शिक्षण कार्य करना होता है और हम लोग पहले से ही स्कूल पर शिक्षण कार्य कर रहे हैं इसलिए हमें यह कोर्स केवल 18 माह यानि कि डेढ़ वर्ष का ही कराया गया है. इसलिए पीएनपी के द्वारा बनाया गया यह प्रस्ताव हम लोगों के साथ नाइंसाफी है.

वहीँ अभ्यर्थियों का यह भी कहना है कि वे सब मिलकर अभी सरकार से अनुरोध करेंगे और यदि सरकार हमारी बातें न मानी तो हम कोर्ट की शरण में जाएंगे. आपको यहीं यह भी बता दें कि उत्तर प्रदेश में करीब एक लाख पचास हजार अभ्यर्थियों ने एनआईओएस से डीएलएड किया हुआ है.   

Advertisements
Loading...

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *