IAS Success Story: पांचवें प्रयास में UPSC परीक्षा पास करने वाली रुचि बिंदल की कहानी है प्रेरणादायक, जानिए

Success Story Of IAS Topper Ruchi Bindal: कभी-कभी व्यक्ति को खूब मेहनत करने के बाद भी सफलता मिलने में देर लग जाती है. इस दौरान खुद को सकारात्मक रखना काफी चुनौतीपूर्ण होता है. आज आपको एक ऐसी शख्सियत के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें यूपीएससी की परीक्षा में लगातार चार बार असफलता मिली, लेकिन उन्होंने सफलता की उम्मीद नहीं छोड़ी. लगातार मेहनत करके पांचवीं बार में उनकी किस्मत खुल गई और परीक्षा में अच्छी रैंक हासिल कर ली. दरअसल यह कहानी आईएएस रुचि बिंदल की है. उन्हें यूपीएससी परीक्षा में चार बार असफलता मिली, लेकिन साल 2019 में उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा अच्छी रैंक के साथ पास कर ली.

कैसा रहा रुचि का आईएएस तक का सफर?

जब रुचि ने यूपीएससी की परीक्षा पहली बार दी, तो वे प्री एग्जाम भी पास नहीं कर पाईं. खुद को मोटिवेट करते हुए उन्होंने दूसरी बार कोशिश की, लेकिन फिर असफलता हाथ लगी. तीसरे प्रयास में भी वे प्री एग्जाम क्लियर नहीं कर पाईं. चौथी बार उन्होंने फिर पूरी ताकत झोंककर परीक्षा दी, तो प्री एग्जाम निकल गया. हालांकि चौथी बार वे मेंस एग्जाम क्लियर नहीं कर पाईं. लगातार मिल रही असफलताओं के बावजूद वे निराश नहीं हुईं और अपना प्रयास जारी रखा. पांचवीं बार में उनकी मेहनत रंग लाई और उन्होंने यूपीएससी में 39वीं रैंक हासिल कर ली.

कैसे पास कर सकते हैं प्री एग्जाम

Advertisements
Loading...

रुचि के मुताबिक यूपीएससी की प्री परीक्षा पास करने के लिए खूब पढ़ें और ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें. पहले अपने सोर्सेस इकट्ठा कर लें और एक ही विषय के बहुत सारे सोर्स कलेक्ट न करें. इन्हें लिमिटेड रखें और बार-बार इनसे पढ़ें. उसके बाद जब तैयारी हो जाए तो खूब टेस्ट दें. चाहें परीक्षा की तैयारी की स्ट्रेटजी हो या पेपर सॉल्व करने की, सबको अपने लिए वही स्ट्रेटजी प्लान करनी चाहिए. दूसरे की रणनीति कॉपी न करें और यह देखें कि आपको इससे फायदा हो रहा या नहीं. वे मानती हैं कि प्री में जितने ज्यादा प्रश्न हल कर सको, उतना बेहतर है.

Loading...

आप यहां रुचि बिंदल द्वारा दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिए इंटरव्यू का वीडियो भी देख सकते हैं

 

दूसरे कैंडिडेट्स को रुचि की सलाह

Advertisements
Loading...

रुचि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे कैंडिडेट्स को सलाह देती हैं कि लिमिटेड किताबें रखें और मन लगाकर उनको पढ़ें. उनके हिसाब से यूपीएससी परीक्षा के तीनों ही चरणों में मॉक टेस्ट्स की बहुत अहम भूमिका है, इससे आपकी तैयारी अच्छी हो जाती है. इसके साथ ही वे मेन्स के लिए आंसर राइटिंग पर जितना हो सके फोकस करने की बात कहती हैं. रुचि मानती हैं कि जितना अधिक से अधिक आप लिखने का अभ्यास कर लेंगे आपके उतने ही अंक आने की संभावना रहती है. वे हमेशा अपने पास सिलेबस रखती थी और बताती हैं कि सिलबेस में दी हर चीज उन्होंने कवर की थी. रुचि कहती हैं कि अपने हिसाब से अपने लिए योजना बनाकर तैयारी करें, तो आपको सफलता जरूर मिलेगी.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *